Sushant Singh Rajput, तुम्हारा सक्सेस प्लान याद आएगा!!! by: Sarita Wadhwani

हम सब गलत कर रहे हैं भाई, सक्सेस का प्लान सभी के पास है लेकिन अगर गलती से फेल हो गए तो उस से कैसे डील करना है कोई बात ही नहीं करता

Written by: Sarita Wadhwani


बेहद उम्दा संदेश जिसने हमें पास-फेल, दोनों परिस्थितियों के लिए सदैव स्वयं को सम बनाए रखने के लिए प्रेरित किया। शर्मीले, शरारती ,मीठी मुस्कुराहट के धनी, माता-पिता को बेहद प्यार करने वाले, शोहरत ,सफलता , इज्जत,दौलत को कम उम्र में हासिल करने वाले, नयी पीढ़ी का रोल मॉडल युवा अचानक अपना सफर समाप्त कर किसी अनजान दुनिया में चले गया।।


सुशांत तुम खुद तो थे शांत,

पर तुमने अचानक छोड़ दिए कई सवाल...


जिंदगी इन्हीं सवालों से गुजर रही है।

क्या चाहते हैं हम? दौलत , सफलता ,शोहरत, इज्जत, भीड़ में एक अलग पहचान अंतहीन ख्वाहिशें...

इस दौड़ में छूट जाते हैं, हमारे सबसे करीबी कीमती दोस्त, रिश्ते, परिवार, प्यार एहसास, संवेदनाएं।

कभी किसी पल कोई घटना कदम रोक भी देती है, दूसरे ही क्षण झूठी लालसाएं मुझे संवेदनहीन बना फिर मेरे मृगतृष्णा की ओर ले चलती है।


भूल गए हम जीवन में क्या जरूरी है? आत्म संतुष्टि या आत्मशांति?

क्योंकि जी रहे हैं हम सिर्फ 6 गज जमीन के टुकड़े के लिए।


एक पल के लिए नन्हे बालक को देखें जो चलना सीखता है चलता है, गिरता है, उठता है ,मुस्कुराता है ,दौड़ता है।

वह इन सब का आनंद उठाता है ,खुश होता है ,क्योंकि वह जिंदगी को जीता है।


हमारी जिंदगी A4 साइज का कोई पेपर नहीं है जिससे हमारी काबिलियत मापी जा सके, और न कोई ऐसी मशीन बनी है जो हमारे दिमाग में कितना तनाव है उसे माप सके और हमें चेतावनी दें ताकि भविष्य में हम भी कभी कोई कहानी बन इसमें ना खो जाएं ।


आओ उसके पहले कुछ बदलाव करें।

"है दुनिया का नियम भी ऐसा ,आप सदा गंभीर रहे।

मन में भाव छुपे हो लाखों,

आंखों से ना नीर बहे।

दिल में एहसास हो प्यार का,

लेकिन अलग तस्वीर रहे,

आपके मस्तक पटल पर हमेशा एहसासों की दूरी रहे ,एहसासों की दूरी रहे।"


इन व्यर्थ मानसिकता से बाहर निकल उस शख्स के साथ दो पल बिताए जिसके साथ आप दुनिया के सारे गम भूल जाएं, सारी खुशियां मनाएं ,क्योंकि अगर कुछ भूल गए हैं हम... वह है हमारी जिंदगी... अपनी जिंदगी प्यारी जिंदगी...


"""धुंधलाते अतीत को उड़ा देते हैं

ना खत्म होने वाले सपने मुस्कुराहट लाते हैं ।

और क्षण भंगुर जिंदगी इन दोनों के बीच सौदेबाजी करती रहती है ।।

सुशांत सिंह राजपूत तुम बहुत याद आओगे।।"""

0 views

©2020 by Shoot Guru. Proudly created with Wix.com